श्री श्यामसिंह शेखावत जी का अभिनंदन

Oct 31 2020 2:07PM 0 Comments, 486 Visits

हेल्प इंडिया संस्थान के राष्ट्रीय सचिव, प्रिविलेज विंग के राष्ट्रीय चैयरमेन तथा पंजाब, हरियाणा, हिमाचल व दिल्ली प्रदेश के प्रभारी 

राष्ट्रीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति व पूर्व राज्यपाल श्री एनएल टिबरेवाल जी का आभार

देश के ख्यातिनाम न्यूरोसाइंस कोच श्री श्यामसिंह शेखावत जी का जन्म 8 नवम्बर 1985 को सुजानगढ़ तहसील के पार्वतीसर ग्राम में श्री किशोरसिंह जी के घर हुआ।

सही दिशा में की गयी मेहनत का अंतिम परिणाम सफलता होती हैं.
आपका बचपन विपरीत परिस्थियों में बिता, देहात एरिया में शिक्षा का आसपास कोई केंद्र नहीं था लेकिन अंदर शिक्षा लेने व शिक्षा को देने की ललक व जुनून आज भी आपको अध्ययन रत बनाये हुवे है।

समय और जिन्दगी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक हैं,जिन्दगी, समय का सदुपयोग सिखाती और.समय हमें जिन्दगी की कीमत सिखाता है

खुद में सफलता पाने की इच्छा और जिद्द ने वर्ष 2011 से अभी तक लाखो लोगो को न्यरोसाइंस की ट्रेनिंग दे चुके है तथा स्कूल ट्रेनिंग में आपने रिकॉर्ड कायम किया।

The scientific knowledge derived from genetics, epigenetics, and neuroscience, should be used to enhance the power of meditation and to eliminate the sufferings of humanity.

मानवता के कष्टों को ज्ञान से समाप्त करने के लिए न्यरोसाइंस के उपयोग को आप महत्वपूर्ण मानते है।
बिलियन न्यूरॉन्स पाए जाते है,हम मस्तिष्क का 4 प्रतिशत भी प्रयोग नहीं करते है। उनको जाग्रत न्यूरॉसाइन्स ट्रेनिंग के द्वारा किया जाता है।
The brain is a monstrous, beautiful mess. Its billions of nerve cells - called neurons - lie in a tangled web that displays cognitive powers far exceeding any of the silicon machines we have built to mimic it.

2014 में पहली बेसिक न्यूरोसाइंस गवर्नमेंट सर्टिफाइड ट्रैनिंग , इसी साल न्यूरोसाइंस की सेकंड ट्रेनिंग 2015 में दिव्तीय लेवल भारत की पहली सरकारी यूनिवर्सिटी आईएलडी इंस्टीट्यूट ऑफ लीडरशिप डेवलपमेंट सर्टिफाइड हुए !
2016-17 में हिमाचल के समस्त स्कूल में ट्रेनिंग देकर एक रिकॉर्ड कायम किया। हिमाचलप्रदेश सरकार ने आपको इस उपलब्धि के लिए सम्मानित किया गया।
2018 में शिक्षा में एक नई क्रांति को लेकर समस्त भारत में विभिन्न राज्य में ट्रेनिंग ऑर्गेनाइज की और लाखों लोगों को इस ट्रेनिंग का लाभ दिया।

सफलता कठिन परिश्रम के पहियों पर चलती हैं
लेकिन आत्मविश्वास और मेहनत रुपी ईधन का होना बहुत जरूरी हैं.

DMIT काउंसलर तथा ट्रेनर श्री श्यामसिंह शेखावत जी राइट दिशा में बढ़ने के लिए DMIT को आप आवश्यक मानते है। इनबोर्न टेलेंट को पहचानने में तथा राइट दिशा में बढ़ने के लिए DMIT को आप आवश्यक मानते है।

ये सच हैं हर सफलता के मार्ग पर आप की मुलाकात असफलता से जरुर होगी
इसका मतलब ये नहीं की असफलता को देख कर अपना मार्ग बदल दे।
बल्कि आपको ये करना चाहिए असफलता से आंखे मिलाते हुए अपने मार्ग पर निरंतर बढ़ते जाए.

इसी मिशन को समस्त भारत में पहुंचाने के लिए 1जनवरी 2019 को हेल्प इंडिया के साथ मिशन को आगे बढ़ाने का प्रण लिया और आज दिन तक निरंतर इसी मिशन को आगे बढ़ाने में प्रयत्नशील है।

आप जैस निष्ठावान कर्मठ सिपाही, कार्यो के प्रति संकल्पबद्ध, विनम्र, हँसमुख तथा प्रेरक व्यक्तित्व को राष्ट्रीय कार्यकारणी में राष्ट्रीय सचिव, प्रिविलेज विंग के राष्ट्रीय चैयरमेन तथा पंजाब, हरियाणा, हिमाचल व दिल्ली प्रदेश के प्रभारी का दायित्व मिलने पर हम गौरान्वित है।

Image may contain: text

Image may contain: 2 people, people standing and hat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Stay Informed

Sign up for our email newsletters and get periodical updates and alerts.